General Rules For Doing Pranayama || प्राणायाम करने के सामान्य नियम

प्राणायाम करने के सामान्य नियम

       प्राणायाम करने का स्थान स्वच्छ  एवं हवादार होना चाहिए।  यदि खुले स्थान में अथवा जल नदी तालाब आदि के समीप बैठकर अभ्यास करें तो सबसे उत्तम हैं।

General Rules For Doing Pranayama, pranayam
प्राणायाम

       नगरों में जहां पर प्रदूषण का प्रभाव अधिक हो वहां पर प्राणायाम करने से पहले घी का दीपक अगरबत्ती या धूप बत्ती जलाकर उस स्थान को सुगंधित करने से बहुत अच्छा रहता है।

       प्राणायाम करते वक्त बैठने के लिए आसन के रूप में कंबल दरी चादर योगा मेट अथवा चटाई का प्रयोग करें।

General Rules For Doing Pranayama, yoga mat
Yoga Mat

       प्राणायाम के लिए सिद्धासन सुखासन या पद्मासन में मेरुदंड को सीधा रखकर बैठे जो लोग जमीन पर नहीं बैठ सकते वह कुर्सी पर बैठकर भी प्राणायाम कर सकते हैं।

       प्राणायाम करते समय अपनी गर्दन रीड छाती एवं कमर को सीधा रखें।
       स्वास सदा नासिका से ही लेना चाहिए इससे श्वास फिल्टर होकर अंदर जाता है। मुख से सांस नहीं लेना चाहिए सामान्य अवस्था में भी नासिका से ही सांस लेना चाहिए।

General Rules For Doing Pranayama, pranayam
Pranayam

       प्राणायाम करने वाले व्यक्ति को अपने आहार विहार आचार विचार पर विशेष ध्यान रखना चाहिए सदैव सात्विक एवं चिकनाई युक्त आहार ही लें जैसे फल एवं उनका रस हरी सब्जियां दूध घी आदि।

यह भी पढ़े 👇

योगदर्शन में पांच प्रकार के क्लेश || Five types of tribulations in Yogadarshan

आध्यात्मिक व्यक्ति , आध्यात्मिक विश्व का निर्माण करता हैं || A spiritual person creates a spiritual world.

Liver diseases || यकृत लिवर रोग कारण व निवारण 

Leave a Reply

Your email address will not be published.