पतंजलि कायाकल्प वटी के फायदे सेवन करने की विधि || Kayakalp Vati Extra Power Hindi me

    पतंजलि कायाकल्प वटी के फायदे सेवन करने की विधि 

  दोस्तों आज मैं इस ब्लॉग के माध्यम से आपको पतंजलि की दिव्य कायाकल्प वटी के बारे में संक्षेप में बताऊंगा।
     आइए जानते हैं दिव्य कायाकल्प वटी में मुख्य घटक क्या – क्या डाले गए हैं तथा इसके खाने से क्या लाभ है तथा इस दवाई के क्या गुण हैं और दिव्य कायाकल्प वटी का सेवन करने की विधि तथा मात्रा के क्या हैं।

Kayakalp Vati Extra Power  Hindi me
Kayakalp Vati



दिव्य कायाकल्प वटी में मुख्य घटक —

  • बावची
  • पनवाड़ 
  • निम्ब
  •  त्रिफला
  •  खदिर
  • मंजिष्ठा
  • कुटकी
  •  अमृता
  •  चिरायता
  •  चंदन 
  • देवदारू 
  • हल्दी 
  • दारूहल्दी
  •  द्रोणपुष्पी
  • लघु कंटकारी 
  • कालीजीरी 
  • इंद्रायण मूल 
  • करंज बीज आदि का घनसत ।

दिव्य कायाकल्प वटी के फायदे तथा गुण –


1. यह रक्त का शोधन करके सभी प्रकार के चर्म रोगों को दूर करने वाली अचूक को सीधे हैं।

2. यह कील , मुहांसों को दूर करके चेहरे की झाइयां व दाग को भी समाप्त करती हैं।

3. सभी प्रकार के पुराने व विकृत दाद, खाज , खुजली, एग्जिमा में तुरंत आराम करती है तथा श्वेत कुष्ट व सोरायसिस में भी बहुत लाभकारी हैं।
 

  • पतंजलि दृष्टि आई ड्रॉप की पूरी जानकारी पाने के लिए यहाँ click कर



 दिव्य कायाकल्प वटी के सेवन करने की विधि तथा मात्रा – 


  • 1 से 2 गोली सुबह खाली पेट और शाम को खाने से एक घंटा पहले ताजे पानी से सेवन करें।
  •  दूध या दूध से बने पदार्थ इसके सेवन से एक घंटा पहले तथा 1 घंटे बाद तक सेवन न करें।


यह भी देखें 👇

     

    6 thoughts on “पतंजलि कायाकल्प वटी के फायदे सेवन करने की विधि || Kayakalp Vati Extra Power Hindi me

    • August 27, 2021 at 2:45 pm
      Permalink

      Mera baby 45 days ka hai mai baby ko feeding karti hu. To mai ye kaykalp vati le sakti hu kya.

      Reply
    • August 27, 2021 at 2:49 pm
      Permalink

      stanpan krane vaki mahilaye ko kayakalp vati ka use nhi krna chahiye.

      (Breastfeeding women should also not use it.)

      Reply

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.