Warning- जिंदगी को छोटा कर रही है फोन में लगे रहने की आदत || Habit of being engaged in phone is making life short

 जिंदगी को छोटा कर रही है फोन में लगे रहने की आदत


Habit of being engaged in phone is making life short
mobile effect


   अगर आपको भी दिन भर फोन चालाते रहने की आदत है तो सावधान हो जाइए। वैज्ञानिकों के अनुसार आपकी यह आदत आपकी उम्र को कम कर रही हैं। हम सभी को पता है कि तनाव बुरा होता है । डॉक्टर अक्सर चेतावनी देते हैं कि तनाव आपकी जान ले सकता है। तनाव के द्वारा आपके शरीर में कोर्टिसोल हार्मोन का स्राव करता है । यह हार्मोन् आपके दिल को तेजी से पंप करता है और आपके शरीर में शुगर की मात्रा को बढ़ाता है। दिन भर फोन में लगे रहने से शरीर पर ऐसा ही प्रभाव पड़ता है।


इनबॉक्स में है तनाव

   पहले तो को कभी – कभी इस स्थिति का सामना करना पड़ता था।  लेकिन अब आपके फोन का इनबॉक्स आपको तनाव देने वाला बन गया है। औसतन हर 36 सेकेंड में इनबॉक्स में नोटिफिकेशन आने से आपका तनाव का स्तर बढ़ता ही जा रहा है। मायो क्लिनिक ने चेतावनी देते हुए कहा कोर्टिसोल का अत्यधिक स्राव और तनाव वाले हार्मोन बढ़ने के कारण आपके शरीर की सारी कार्यप्रणाली गड़बड़ हो सकती हैं। प्रजनन की क्षमता में कमी आ सकती है। अवसाद मधुमेह और दिल का दौरा बढ़ सकता है। आपका फोन आपके तनाव का सबसे बड़ा कारण बन गया है।


फोन को देख कर बढ़ता है तनाव

    वैज्ञानिकों का कहना है कि जैसे ही आप अपने फोन के बारे में सोचते हैं आपको तनाव महसूस होता है और फिर उसे कम करने के लिए आप फोन चेक करते हैं। लेकिन फोन चेक करने से आपका तनाव और बढ़ जाता है । कोई परेशान करने वाला मैसेज, कोई छुटा हुआ कॉल या कोई डराने वाला हैडलाइन आपका इंतजार कर रहा होता है। धीरे-धीरे यह तनाव बढ़ता जाता है, और हम असामयिक मृत्यु की ओर बढ़ जाते हैं।


कोर्टिसोल के स्तर पर कैसे काबू पाएं


Habit of being engaged in phone is making life short
mobile notification


  • अपने फोन का नोटिफिकेशन बंद कर दे, या अपने फोन को बदसूरत बनाकर रखें। ताकि आपको उसे देखने का मन ना करें।
  • स्टैनफोर्ड की मनोरोग विशेषज्ञ ली केली मैकगोनिगल ने कहा कि फोन की लत से छुटकारा पाने के लिए माइंडफूलनेस और ध्यान का अभ्यास करें।


आपकी जेब में है तनाव

     न्यूयॉर्क टाइम्स में छपे एक लेख में बताया गया है कि लोगों की फोन की प्रतिदिन बढ़ती दीवानगी से डॉक्टर चिंतित हैं। क्योंकि इससे उनकी उम्र कम हो रही है । लोग औसतन रोज 4 घंटे तक फोन में देखते रहते हैं । ज्यादातर लोग इस बात को अनदेखी करते हैं कि वह रोज कितना समय फोन और अन्य उपकरणों पर बर्बाद कर देते हैं । यह आप की उत्पादकता की लिए बुरा ही है साथ ही आपकी सेहत पर भी बेहद बुरा प्रभाव डालता है।

     यूनिवर्सिटी ऑफ कनेक्टिकट के स्कूल ऑफ मेडिसिन साइकाइट्रि के प्रोफेसर डेविड ग्रीनफील्ड ने कहा, जब भी आपका फोन आस पास होता है। कोर्टिसोल का हिस्सा बन जाता है । जब आप फोन में नोटिफिकेशन आने की धनि सुनते हैं या आपको ऐसा लगता है कि आपका फोन बज रहा है तभी आपका कोर्टिसोल का स्तर बढ़ जाता है।


नार्को टेस्ट क्या होता है? || नार्को टेस्ट कैसे किया जाता हैं? || नार्को टेस्ट के लिए कानून? What is a narco test? || How is a narco test done? || Law for Narco Test?


संस्कृत भाषा का महत्त्व और उसका शिक्षण || Importance and teaching of Sanskrit language.

Leave a Reply

Your email address will not be published.