अष्ट सिद्धियां || Ashta Siddhi || YCB syllabus

 अष्ट सिद्धियां , Ashta Siddhi

अष्ट सिद्धियां, Ashta Siddhi ,  YCB syllabus
ashta siddhi

     साधक जब योग साधना द्वारा पंचमहाभूता पर विजय प्राप्त कर लेता है। तब उसे अष्ट सिद्धियों की प्राप्ति होती हैं।


 अणिमा महिमा चैव लघिमा गरिमा तथा |

प्राप्तिः प्राकाम्यमीशित्वं वशित्वं चाष्ट सिद्धयः ||


अष्ट सिद्धियां निम्नलिखित हैं–

1- अणिमा

2- लघिमा

3- महिमा

4- गरिमा

5- प्रकाम्या

6- प्राप्ति

7- इशित्व

8- वशित्व


1- अणिमा:-

सबसे पहली सिद्धि अणिमा है। इस सिद्धि की प्राप्ति होने पर साधक अपना आकार अणु के समान छोटा बना लेता है।


2- लघिमा:-

 इस सिद्धि के द्वारा साधक अपने शरीर को रुई के समान हल्का बना कर हवा में उड़ा सकता है , और सृष्टि की किसी भी वस्तु को अपने पास लाकर इच्छा अनुसार उसने परिवर्तन ला सकता है।


3- महिमा:-

 इस सिद्धि का उपयोग कर साधक अपने शरीर को पर्वत के समान विशाल बना सकता है।


4- गरिमा:-

इसके द्वारा साधक अपने शरीर को जितना चाहे उतना फैला या भारी बना सकता है।


5- प्रकाम्या:-

 इस सिद्धि का उपयोग कर साधक कोई भी रूप धारण कर सकता है और इच्छाओं को पूर्ण कर सकता है।


6- प्राप्ति:-

 इस सिद्धि का उपयोग कर साधक किसी भी वस्तु को प्राप्त कर सकता है तथा साधक रेगिस्तान में भी पानी प्राप्त कर सकता है।


7- इशित्व:-

इस सिद्धि का उपयोग कर साधक पदार्थों को अपनी इच्छा अनुसार प्रयोग कर सकता है। साधक पदार्थ को उत्पन्न तथा नष्ट कर सकता है।


8- वशित्व:-

इस सिद्धि का उपयोग कर साधक जीव जंतु तथा जड़ चेतन आदि को स्वयं के वश में कर सकता है। प्रकृति तथा परिस्थितियों को भी वश में कर सकता है।


यह भी पढ़े👇

Leave a Reply

Your email address will not be published.