दिव्य पेय ( हर्बल टी ) || पतंजलि की दिव्य पेय करती है कई बीमारियों का इलाज, Patanjali Divya Peya

  दिव्य पेय ( हर्बल टी )

Patanjali Divya  Peya

patanjali divya peya

 मुख्य घटक :

      ➢एला ( इलायची ) ,तेजपत्र , दालचीनी , लवंग , चन्दन , जावित्री , जायफल , कालीमिर्च , गुलाब फूल , कमलफूल , अश्वगन्धा , सोमलता , पुनर्नवा , वासा , चित्रक , अमृता , भूमि आँवला , आज्ञाघास , बनप्साफूल , ब्राह्मी , शंखपुष्पी , तुलसी , छोटी पिप्पली , श्वेत चन्दन , चव्य , सोंठ , नागरमोथा , तेजपात , सौंफ , अर्जुन आदि । 

मुख्य गुण – धर्म : 

  • इस दिव्य पेय को पीने से शरीर में रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती हैं , जिससे कफ जैसे  रोग शरीर को आक्रान्त नहीं कर पाते । किसी असावधानीवश रोग शरीर में आ भी जाता है  तो उस से  शीघ्र छुटकारा मिल जाता है । 
  •  इसके सेवन से मन्दाग्नि दूर होती है । मस्तिष्क को शान्ति व शक्ति मिलती हैं  है तथा शरीर की शक्ति में भी वृद्धि होती है । इस पेय का सेवन कॉलेस्ट्रॉल को ख़त्म  करता है तथा हृदय रोगों में बचाव करता है ।
  • यह दिव्य पेय यकृत  को शक्ति देता हैं  है । जबकि बाजार में उपलब्ध चाय में निकोटिन होती है तथा उसके सेवन से  कब्ज व एसीडिटी,गैस  जैसे रोग  पैदा हो जाते हैं । 
  • यह मादकतारहित मधुर स्वादयुक्त आयुर्वेदिक  दिव्य पेय है , जो चाय का उत्तम विकल्प है । 

सेवनविधि तथा मात्रा : 

     इस पेय को बनाने की  विधि सामान्य चाय की तरह है । मात्रा भी सामान्य चाय की तरह ही है , बल्कि उससे भी कम मात्रा में डालना उचित है । इसे दूध में डालकर सामान्य चाय की अपेक्षा अधिक देर तक पकाएँ । इससे जड़ी – बूटियों का अधिक लाभ मिलेगा । आवश्यकतानुसार चीनी मिलाकर पिएं । 

यह भी देखें 👇


    Leave a Reply

    Your email address will not be published.