शलजम में इम्यूनोलॉजिकल का प्रभाव मिलता है, इसमें vitamin-c की मात्रा पाई जाती है और vitamin-c रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार हो सकता है

1.

 हृदय स्वास्थ्य के लिए मददगार -

एक रिसर्च के अनुसार, शलजम में फ्लेवोनोइड्स और फाइटोन्यूट्रिएंट्स मौजूद हैं, जो हृदय से संबंधी बीमारियों के जोखिम को कम करने में काफी सहायक होते हैं।

 2.

कैंसर  जोखिम को कम करने में सहायक-

 3.

शलजम में एंटी-कैंसर गुण मौजूद होते हैं । एंटी-कैंसर गुण कैंसर से बचाव में तथा कैंसर कोशिकाओं के विस्तार को रोकने में मददगार साबित हो सकते हैं।

ब्लड प्रेशर (BP) को कम करने में सहायक -

 4.

शलजम में पोटेशियम की मात्रा पाई जाती है। यह पोषक तत्व ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में काफी मददगार होते हैं।

 वजन घटाने में सहायक -

 5.

शलजम में हाई फाइबर और लो कैलोरीज उपलब्ध है, जो वजन को नियंत्रित रखने का कार्य करता है । फाइबर के सेवन से वजन को नियंत्रित किया जा सकता हैं।

आंखों के लिए लाभदायक -

 6.

शलजम की हरी पत्तियों में ल्यूटिन और जियाजैंथिन नाम के दो कंपाउंड उबलब्ध होते हैं, जो आंखों को स्वस्थ रखने में काफी मदद करते हैं।

 मधुमेह में लाभकारी -

 7.

 NCBI के एक शोध के अनुसार, शलजम के अर्क में एंटीडायबिटिक  गुण मौजूद होता है। यह इंसुलिन को बढ़ाकर ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करता है, जिससे मधुमेह की समस्या से आराम मिलता हैं।

याददाश्त के लिए सहायक -

 8.

शलजम के टर्निप में कोलीन उपलब्ध होता है।  कोलीन स्मरण शक्ति को बेहतर बनाने के साथ-साथ मस्तिष्क के विकास में भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

इसी प्रकार की जानकारी के लिए